सुपोषित माँ अभियान (Suposhit Maa Abhiyan in Hindi)

सुपोषित माँ अभियान समाचार में: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हाल ही में 1 मार्च, 2020 को कोटा, राजस्थान से कुपोषण मुक्त भारत बनाने के लिए एक राष्ट्रीय अभियान शुरू किया। ओम बिरला ने लॉन्च किया "सुपोषित माँ अभियान" देश में किशोरियों और गर्भवती महिलाओं का समर्थन करेगा।

सुपोषित माँ अभियान इस अभियान का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशु को स्वस्थ्य रखना है। इसे कोटा से लॉन्च किया गया है लेकिन यह पूरे भारत को कवर करेगा। अभियान के प्रथम चरण में एक हजार गर्भवती महिलाओं को 17 किलो संतुलित आहार की लगभग 1000 किट प्रदान की गई।

सुपोषित माँ अभियान के मुख्य बिंदु (Key points of Suposhit Maa Abhiyan in Hindi) :

• सुपोषित मां अभियान हमारी आने वाली पीढ़ियों के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने का अभियान है। लोकसभा अध्यक्ष ने इस मौके पर कहा कि 130 करोड़ भारतीयों के सपनों को पूरा करने के लिए ऐसे कार्यक्रमों को जन आंदोलन बनाना होगा.
• योजना के तहत 1000 महिलाओं को 1 माह तक 12 माह तक भोजन दिया जाएगा। वहीं मेडिकल जांच, रक्त, दवा, प्रसव समेत बच्चे के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाएगा।
• यह गर्भवती माताओं और लड़कियों के लिए पोषण संबंधी सहायता है। अभियान न केवल गर्भवती महिलाओं की देखभाल करेगा बल्कि नवजात शिशु भी इस योजना का हिस्सा होंगे।
अभियान का नाम :सुपोषित माँ अभियान
अभियान किसके द्वारा शुरू किया गया :लोक सभा स्पीकर ओम बिरला
अभियान कब शुरू किया गया :1 मार्च, 2020
अधिक जानकारी के लिए :यहाँ क्लिक करें
सुपोषित माँ अभियान

सुपोषित माँ अभियान के बारे में जाने (Know about Suposhit Maa Abhiyan in Hindi) :

  • इस अभियान की योजना के अनुसार, 1000 महिलाओं को 1 महीने के लिये पोषक तत्त्वों से भरपूर भोजन दिया जाएगा साथ ही जच्चे-बच्चे की स्वास्थ्य चिकित्सा जाँच, रक्त, दवा, प्रसव सहित अन्य बातों का ध्यान रखा जाएगा।
  • यह अभियान गर्भवती माताओं और लड़कियों की पोषण सहायता से संबंधित है इस अभियान के माध्यम से न केवल गर्भवती महिलाओं की देखभाल की जाएगी बल्कि नवजात शिशु भी इस योजना का हिस्सा होंगे।
  • इस अभियान के पहले चरण में लगभग 1000 गर्भवती महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।
  • सुपोषित माँ अभियान में एक परिवार से एक गर्भवती महिला को शामिल किया जाएगा।
  • सुपोषित माँ अभियान के तहत नवजात बच्चे के स्वास्थ्य की भी विशेष देखरेख की जाएगी।
  • अभियान के पहले चरण में 1,000 गर्भवती महिलाओं में से प्रत्येक को 17 किग्रा. संतुलित आहार की एक किट प्रदान की जाएगी।
  • इस किट में गेहूँ, चना, मक्का और बाजरे का आटा, गुड़, दलिया, दाल, बड़ी सोयाबीन, घी, मूँगफली, भुने हुए चने, खजूर और चावल शामिल होंगे।
  • सुपोषित माँ अभियान हमारी भावी पीढ़ियों को स्वस्थ बनाए रखने का एक विशेष अभियान है।
  • सुपोषित माँ अभियान” देश में किशोरियों और गर्भवती महिलाओं के लिये लाभकारी सिद्ध होगा।
  • इसका लक्ष्य गर्भवती महिलाओं, माताओं और बच्चों का पर्याप्त पोषण और उनका संपूर्ण विकास सुनिश्चित करना है।

यह भी पढ़े :

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana
Mukhyamantri Laghu Udhyog Protsahan Yojana (MLUPY)
Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना)

वहीं, मेडिकल जांच, ब्लड टेस्ट, दवाइयां, डिलीवरी समेत बच्चे के स्वास्थ्य को कवर किया जाएगा। पहचानी

गई महिलाओं को गोद लेने के लिए वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा। एक परिवार से केवल एक गर्भवती महिला को ही गोद लिया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि यह कार्यक्रम मानवता को जन्म देने वाली मां को समर्पित है. उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य समाज को मां की जिम्मेदारी देना है, न कि परिवार को। उन्होंने याद किया कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में पोषण का अभियान शुरू किया है। 9,000 करोड़।