Categories: Teaching
| On 8 months ago

Teaching: The importance of "preamble" in classroom teaching.

कक्षा शिक्षण : कक्षा शिक्षण में "प्रस्तावना" का महत्व।

कक्षा शिक्षण में अध्याय की स्थापना का विशेष महत्व है। सभी विषयो विशेषकर भाषा शिक्षण में अध्याय आरम्भ करने से पूर्व विद्यार्थियों के मानस में विषय व अध्याय के उद्देश्यों, विषयवस्तु एवम् महत्व को स्थापित करना आवश्यक हैं।
प्रस्तावित शैक्षिक इकाई को आरम्भ करने से पूर्व अध्याय के लेखक का परिचय, उनके कृतित्व के बारे में कुछ प्रकाश अवश्य डाला जाना चाहिए। लेखक के अन्य समकालीन, पूर्वकालीन लेखको के विषय सम्बंधित ज्ञान से भी कक्षा को अवगत करवाया जाना उचित है।
" learning with object" उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए एक शिक्षक का यह भी दायित्व है कि विद्यार्थियों को अवगत करवाये
कि वर्तमान अध्याय के अद्योपन्त अध्ययन से उनमे किस ज्ञान या कौशल का विकास होगा।
अध्याय की स्थापना हेतु प्रस्तावना के लिए विद्यार्थियो के पूर्व ज्ञान को वर्तमान से सम्बंधित करते हुए सामजिक परिवेश से सम्बंधित किया जाता है। इसके लिए शिक्षण सहायक सामग्री (TLM) का प्रयोग रोचकता व अधिगम दोनों का विकास करता हैं।
अंग्रेजी भाषा की एक कहावत है कि " Well begin is half done" अर्थात प्रस्तावना श्रेष्ठ हो तो अध्याय का समापन भी उद्देश्यों की प्राप्ति के साथ होगा। इसी प्रकार किसान भी खेती में बीजारोपण से पूर्व बेहतर निराई से ही फसल प्राप्त करता है।
सादर।
सुरेन्द्र सिंह चौहान।
suru197@gmail.com
9351515139