Categories: Education Department
| On 2 days ago

U-DISE Plus : Unified- District Information System for Education

यू-डाइस प्लस : एकीकृत जिला शिक्षा सूचना प्रणाली

Contents [hide]

एकीकृत जिला शिक्षा सूचना प्रणाली (Unified- District In formation System forEducation) भारत सरकार के द्वारा विकसित प्रणाली है

यू-डाइस का महत्व

  • एकीकृत जिला शिक्षा सूचना प्रणाली के माध्यम से सरकार द्वारा प्रत्येक जिले की शिक्षा से सम्बंधित समंक एकत्र पश्चात नीति-निर्धारण का कार्य किया जाता हैं। स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इस कार्य को किया जाता है।
  • एकीकृत जिला शिक्षा सूचना प्रणाली (Unified- District In formation System for Education) भारत सरकार के द्वारा विकसित प्रणाली है जिसमें राज्य के सभी प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक (राजकीय/गैर-राजकीय), माध्यमिक/उच्च माध्यमिक विद्यालयों की समस्त प्रकार शैक्षिक सूचनाओं को संकलित कर कम्प्यूटरीकृत डेटाबेस का निर्माण किया जाता है।
  • एकीकृत शिक्षा के लिए एकीकृत जिला सूचना प्रणाली (UDISE) 2012-13 में शुरू हुई और माध्यमिक शिक्षा के लिए SEMIS को समेकित किया गया, जो 1.5 मिलियन से अधिक स्कूलों, 8.5 मिलियन शिक्षकों और 250 मिलियन बच्चों को कवर करने वाले स्कूली शिक्षा पर सबसे बड़े प्रबंधन सूचना प्रणाली में से एक है।

यू-डाइस प्लस | UDISE Plus

यू-डाइस + (UDISE प्लस) UDISE का एक अद्यतन और बेहतर संस्करण है। पूरा सिस्टम ऑनलाइन होगा और धीरे-धीरे वास्तविक समय में डेटा एकत्र करने की ओर बढ़ेगा। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से 2018-19 का डेटा एकत्र किया जाएगा।यह उपलब्ध कराए गए डेटा की गुणवत्ता और विश्वसनीयता में सुधार करेगा, जिससे यह विश्लेषण अधिक मजबूत और सटीक होगा। इस प्रणाली के शुरू होने से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लिए स्कूलों की प्रगति की निगरानी करना और डेटा संग्रह और विश्लेषण में लगने वाले समय को कम करना आसान हो जाएगा।

नवीन अपडेट दिनां 14 मई 2021

यू डाइस प्लस पोर्टल पर DCF एवम स्कूल रिपोर्ट डाउनलोड होना प्रारम्भ हो गया है। 

 

UDISE भरते समय सावधानी

UDise 20-21 का कार्य प्रारम्भ हो चुका है! प्रत्येक राजकीय/मान्यता प्राप्त गैर राजकीय विद्यालय द्वारा DCF भरा जाना है!
इस हेतु DCF मे दिए गए निर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लें!

महत्वपूर्ण बिंदु जिनका विशेष ध्यान रखें ।

1. शिक्षा कर्मी विद्यालय का मैनेजमेंट बदले! अब इनका नाम राप्रावि/राउप्रा वि है अतः तदनुसार इनका मैनेजमेंट बदल कर सही करें!

2. DCF 20-21 का फॉर्मेट 2019-20 जैसा ही रखा गया है अतः अपने DCF 19-20 की हार्डकॉपी को चैक करें यदि वहां कोई गलती है तो हार्डकॉपी मे लाल स्याही से सही कर 2020-21 ऑनलाइन भरने मे इन गलतियों को सुधार लें!

3. प्रत्येक विद्यालय मे छात्र/छात्राओं हेतु पृथक पृथक शौचालय की फीडिंग सही करें!

4. पीने के पानी की सुविधा की फीडिंग सही करना सुनिश्चित करें!

5. विद्यालय अपने नामांकन की प्रविष्टि सही करें!

6. यदि किसी निजी विद्यालय ने अपना ब्लॉक चेंज कर लिया है तो उसका UDise कोड परवर्तित नहीं होगा।

अगर कोई प्राइवेट स्कूल आपके क्षेत्र में नया प्रारम्भ हुआ है तो उससे UDise कोड लेना होगा! परन्तु यह सुनिश्चित कर लें कि उसने पहले से ही Udise कोड नही ले रखा हो!

7. जिनके GIS coordinate अपडेट नहीं है तो अनिवार्य रूप से करें तथा 20-21 के लिए Udise भरने से पहले आवश्यक रूप से कहीं नोट भी करके रखें!

8. डाटा वेरिफिकेशन में प्रत्येक स्कूल को अपना शाला दर्पण आई डी डालना है! प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय अपना शाला दर्पण आई डी डालें! किसी भी स्थिति में पीईईओ का नही।

9.निजी विद्यालय डाटा वेरिफिकेशन में PSP आईडी लिखेंगे।

10.संस्था प्रधान के साथ साथ उस कार्मिक का मोबाइल नंबर फीड करें जो DCF के बारे में पूरी जानकारी रखता हो।

11.बिंदु संख्या 1.23 में Yes केवल उन्हीं स्कूल्स को करना है जो विशेष रूप से CWSN के लिए बने हैं। सामान्य स्कूल जिसमे CWSN विद्यार्थी अध्ययनरत हो तो विद्यालय को CWSN विद्यालय के रूप में Yes नही करना है।

12.संस्कृत स्कूल्स को मीडियम ऑफ इंस्ट्रक्शन हिंदी लिखना है ।

13. प्रत्येक राजकीय स्कूल को खुद के साथ दूरी 0 किलोमीटर लिखनी है एवम अन्य राजकीय स्कूल के साथ वास्तविक दूरी लिखनी है।

14..BPL एवं आधार कार्ड युक्त स्टूडेंट्स का डाटा ठीक प्रकार से फीड करें।

15.ट्रांसजेंडर स्टूडेंट्स को बॉयज में काउंट करना है।

16. बिंदु संख्या 1.28 एवं बिंदु 4.4 में समान एनरोलमेंट लिखें।

17. रिपीटर का अर्थ है कोई स्टूडेंट किसी भी कारण से उसी कक्षा में पुनः उसी स्कूल में या अन्य किसी स्कूल में पढ़ रहा है।

ध्यान रखें ~~~रिपीटर्स एवं एनरोलमेंट किसी भी परिस्थिति मे सामान नहीं हो सकता!

अन्य निर्देश आपको U Dise web portal स्टार्ट होने पर विभाग द्वारा प्रदान किए जाएंगे।

DCF को किसी विज्ञ कार्मिक से ही भरवाएं ताकि गलती की सम्भावना ना हो!

DCF संस्था प्रधान/पीईईओ/यूसीईईओ/सीबीईओ द्वारा प्रमाणित किया जायेगा अतः सम्बंधित ध्यान पूर्वक वेरिफिकेशन करें!

यू डाइस 2020-21 को भरने का तरीका। How to fill UDISE

कोरोना की वजह से वर्क फ्रॉम होम करने से यू डायस 2020 - 21 भरने सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी निम्नानुसार हैं--

विद्यालय प्रोफाइल में सुधार यथा संस्था प्रधान के मोबाइल नम्बर या विद्यालय की जीमेल आईडी सम्बन्धी संशोधन ब्लॉक स्तर पर करवाना होगा।

सत्र 2019 - 20 के कार्यदिवस जुलाई से मार्च तक के भरने हैं, मार्च के बाद कोरोना की वजह से विद्यालय नहीं चले थे , और ये कार्यदिवस आप शालादर्पन से प्राप्त कर सकते हैं यदि आपने शाला दर्पण पर विद्यार्थी उपस्थिति मॉड्यूल अपडेट कर रखा है तो। 4.1 में नवप्रवेशित बालकों की सूचना अपडेट करनी है जो कि आप शाला दर्पण से प्राप्त कर सकते हैं 👉 इसके लिए शाला दर्पण के ‼️ रिपोर्ट्स व डाउनलोड ‼️ ऑप्शन से छात्रों की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

4.2 में श्रेणी के अनुसार नामांकन भरना है जिसको भी आप शाला दर्पण के रिपोर्ट ऑप्शन में क्लास वाइज नामांकन से श्रेणी के अनुसार नामांकन प्राप्त कर सकते हैं!

बच्चों की उम्र निकालने के लिए भी शाला दर्पण पोर्टल पर डाउनलोड ऑप्शन से बच्चों की समस्त जानकारी एक्सेल शीट में प्राप्त कर सकते हैं जिसमें जन्मदिनांक भी होगी और उसकी सहायता से उम्र की गणना कर सकते हैं।

4.4 में मीडियम के अनुसार नामांकन भरना है, उसमें आपका जो नामांकन है वो ही भरना है।

4.5 में रिपिटर्स की सूचना भरनी है, मतलब जो इस वर्ष भी उसी कक्षा में हैं।

2019 - 20 का नामांकन भी शाला दर्पण के रिपोर्ट टैब से प्राप्त कर सकते हैं। 2019 - 20 का रिजल्ट भरते समय ध्यान रखें कि सभी बच्चों को क्रमोन्नत किया गया था इसलिए सभी 60% से ऊपर ही रहेंगे।

सभी मॉड्यूल पूर्ण करने के बाद validation of data पर क्लिक करना है और यदि आपके द्वारा भरे गए डाटा कहीं गलत है तो वो error बता देगा और उसमें सुधार कर सकते हैं, और यदि सारी सूचना सही हैं तो validation successfully हो जाएगा।
इस तरह से आप घर से ही यू डायस का कार्य पूर्ण कर सकते हैं।

  • U - DISE FEEDING 2020-21 सम्बंधित प्रश्न और उनके जवाब।

1. मेरी स्कूल की पंचायत नई वाली नही बात रही है। स्कूल की प्रोफाइल में चेंज करना है। प्रोफाइल चेंज होने के बाद udise भरे क्या?

उतर- आपकी स्कूल पुरानी पंचायत में ही देखेगी आप केवल डेटा फीडिंग का कार्य पूर्ण करदे। उक्त समस्या अपने आप मैपिंग से समाप्त हो जाएगी।

2.मर्ज स्कूल udise में शो नही हो रही है। क्या करे?

*उतर इसके लिये आपको नए dise कॉड लेने होंगे जिसे प्राप्त करने के लिये नए dise कोड का फॉर्म भर के पीईईओ के sign व सील के साथ demrge होने वाला आर्डर लगा कर स्कैन कर 600 kb से कम की पीडीएफ बना कर सीबीईओ कार्यालय की मेल पर मेल करें।*

3 मेरी स्कूल का नाम उप्रावि से मावि या मावि से उमावि हो गया तथा मेरी स्कूल के नाम के आगे sks लगा है जिसे प्रावि GPS करना है।

उतर इसके लिये आप A01 फॉर्म भरके पीईईओ के सील व sign के करवाने के बाद स्कैन 600 kb से कम साइज में पीडीएफ बना करके सीबीईओ कार्यालय को मेल करे।

यू डाइस आवेदन हेतु फॉर्म

डिमर्ज विद्यालयों के लिए नया डाइस कोड जारी किया जाना है इसलिए निर्धारित U-DISE आवेदन पत्र भरकर कार्यालय को भिजवाना सुनिश्चित करें।

 

यू-डाइस सम्बंधित नवीनतम अपडेट

दिनाँक 28 अप्रैल 2021

यू डाइस पोर्टल पर 2020-21 की डाटा एंट्री की प्रारम्भ हो गई है। 

 

दिनांक 06 जुलाई 2020

यू-डाइस सम्बंधित नवीनतम अपडेट

UDISE+2019-20 CWSN बच्चों की एवं PMS Portal पर Entry करने बाबत।

यू-डाइस पोर्टल पर डाटा भरने की अंतिम तारीख बढ़ाकर की 29 फरवरी 2020

युडाइस से सम्बंधितराजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद से जारी डेटा एंट्री प्रोग्रेस स्टेट्स रिपोर्ट के आंकड़ों पर नजर डालें तो प्रदेश के एक लाख 6 हजार 289 स्कूलों में से 14 हजार 671 स्कूलों ने अभी फीडिंग ही शुरू नहीं की है। वहीं 12 हजार 339 स्कूलों को वर्क इन प्रोग्रेस दिखाया गया है।यू-डाइस प्लस हेतु अंतिम तिथि दो बार बढाई जा चुकी है। शिक्षा विभाग ने पूर्व में 31 जनवरी को पोर्टल पर ऑनलाइन फीडिंग शुरू होने के साथ 10 फरवरी अंतिम तिथि तय की थी। उसके बाद पुनः उसे
बढ़ाकर 20 फरवरी कर दिया गया। अब 25 फरवरी के आदेश अनुसार तिथि को तीसरी बार बढ़ाते हुए 29 फरवरी अंतिम तिथि की है।किसी भी स्कूल की ओर से यू-डाइस पोर्टल पर फीडिंग नहीं की जाती है तो उस स्थिति में राजकीय स्कूलों के संस्था प्रधानों पर विभागीय कार्रवाई एंव गैर सरकारी स्कूलों की मान्यता समाप्त करने की कार्रवाई के साथ विभिन्न पोर्टल्स पर स्कूल को बन्द दिखाया जा सकता है। जिससे आरटीई के अंतर्गत 25 फीसदी बच्चों की फीस का पुनर्भरण नही होगा। विद्यार्थी केन्द्र या राज्य सरकार से मिलने वाली विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्तियोंएवं कल्याणकारी योजनाओं से वंचित रह सकते हैं।

राजस्थान के विद्यालयों के सम्बंधित विभागीय विज्ञप्ति

समस्त राजकीय एवं निजी विद्यालयों के संस्था प्रधानो को यू-डाइस प्लस पोर्टल ( udiseplus.gov.in ) पर ऑनलाईन डाटा अनिवार्यतः भरने हेतु सूचना:-स्कूल शिक्षा के बेहतर नियोजन के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा एकीकृत जिला शिक्षा सूचना प्रणाली (यू-डाइस) को वर्ष 2019-20 में यू-डाइस विद्यालयों द्वारा स्वयम के स्तर पर यू-डाइस पोर्टल पर फीड किया जायेगा। साथ ही आगामी माहों में उक्त सूचना को निर्धारित समय सीमा में विद्यालयों द्वारा अपडेट भी किया जायेगा जिससे विद्यालयों की समस्त सूचनाएँ भारत सरकार के स्तर तक वास्तविक समय (Real Time) के अनुसार उपलब्ध हो सके।अतः राजस्थान राज्य में स्थित सभी प्रकार के विद्यालय चाहे वे किसी भी प्रबंधन द्वारा संचालित हो अथवा किसी भी बोर्ड ने मान्यता प्राप्त हो,

के संस्था प्रधान कृपया ध्यान दे कि अपने विद्यालय रिकार्ड से यू-डाइस डीसीएफ (डाटा कैप्चर फॉरनमेंट) दिशांक 20.02.2020 तक अनिवार्य रूप से ऑनलाइन भरें।1. डेटा कैप्चर फॉरमेट ( डीसीएफ) किन विद्यालयों को भरना है-यह फॉरमेट राजस्थान राज्य में स्थित सभी प्रजार के सरकारी, निजी, मान्यता प्राप्त, गैर मान्यता प्राप्त प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, माध्यमिक, केन्द्रीय विद्यालय संगठन, नवोदयविद्यालय संगठन, सैनिक विद्यालय, संस्कृत शिक्षा विद्यालय, मदरसा , शिक्षाकर्मी, श्रम बाल विद्यालय जनजाति क्षेत्र के आवासीय विद्यालय, समाज कल्याण विभाग
इत्यादि द्वारा संचालित आवासीय विद्यालय जिनमें कक्षा 1 से 12 तक को कक्षाएं संचालित हो रही है चाहे वे किसी भी प्रबन्धन द्वारा संचालित हो रही है या किसी भी बोर्ड ( यथा राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड , केंद्रीय माध्यामिक शिक्षा बोर्ड,आई.सी. एस. सी. या अन्य कोई समकक्ष
बोर्ड से मान्यता प्राप्त हो, द्वारा ऑनलाईन डेटा कैप्चर फॉरमेट (डीसीएफ़) भरना अनिवार्य हैं।2. डेटा कैप्चर फॉरमेट नहीं भरने पर क्या हो सकता है :-(a) आपका विद्यालय समग्र शिक्षा के अन्तर्गत किसी भी प्रकार की सहायता से वंचित रह सकता है एवं राजकीय कार्य में लापरवाही बरतने पर संस्था प्रधानों के विरूद्व विभागीय कार्यवाही की जा सकती है।
(b). निजी विद्यालयों की मान्यता समाप्त करने की कार्यवाही की जा सकती है एवं राज्य सरकार के विभिन्न पोर्टलों पर विद्यालय बंद दर्शाया जा सकता है तथा आर.टी.ई के अन्तर्गत 25 प्रतिशत बच्चों की फीस का पुनर्भरण नहीं हो सकेगा। साथ ही निजी स्कूलों की मान्यता के आवेदन पत्र में यू-डाइंस कोड अंकित किया जाना अनिवार्य होगा।3. डेटा कैप्चर फॉरमेट भरने की आवश्यकता क्यो है:-
a. विद्यालय के विद्यार्थी केन्द्र/राज्य सरकार से मिलने वाली छात्रवृत्ति से वंचित रह सकते है क्यों कि विद्यालयों को इस हेतु यू-डाइस कोड अनिवार्य है।
b. माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में बोर्ड परीक्षा में आवेदन हेतु यू-डाइस कोड अनिवार्य है।4. डेटा कैप्चर फॉरमेट ऑन लाईन कैसे एवं कब तक भरें:-
डेटा कैप्चर फॉरमेट भरने हेतु परिषद् कार्यालय से समस्त राजकीय/गैर राजकीय विद्यालयों के यूजर. एवं पासवर्ड विद्यालयों के संस्थाप्रधानों के मोबाईल पर एसएमएस के माध्यम से भिजवायें जावेगें। संस्था प्रधान द्वारा udiseplus.gov.in बेवसाइट पर अपने यूजर एवं पासवर्ड के माध्यम से डाटा फीड कर सकते है। यदि विद्यालय क्रमोन्नत हुआ है तो. विद्यालय डाटा फीड करने पूर्व ब्लॉक/जिला स्तर से आवश्यक रूप से केटेगरी अपडेट करावें। यू-डाइस डाटा उक्त पोर्टल पर दिनांक 01.02.2020 से 20.02.2020 तक भरा जा सकता है। यू-डाइस डाटा फीड करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश udiseplus.gov.in बेवसाइट पर या . ह लिंक पर उपलब्ध है5. नवीन विद्यालयों द्वारा डाइस कोड़ कैसेः प्राप्त किया जावें:-
वर्ष 2019-20 में ऐसे विद्यालय जिनको राज्य सरकार द्वारा नवीन मान्यता प्राप्त हुई है अथवा ऐसे विद्यालय जिन्होने के कभी यू-डाइस नही भरा हो वे विद्यालय जिला/ ब्लॉक स्तर से यू-डाइस कोड़ प्राप्त करने हेतु संबंधित प्रपत्र https://tinyurl.com/s9bxwdh की प्राप्त
कर विद्यालय की जानकारी देते हुए यू-डाइस कोड़ प्राप्त कर सकते है। डाइस कोड़ प्राप्त करने हेतु विद्यालयों द्वारा मान्यता की प्रति अनिवार्य रूप से मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी के माध्यम से जिला कार्यालय में उपलब्ध करवाई जायेगी।
6. डेटा कैचर फॉरमेट भरने हेतु आ रही समस्या का समाधान कैसे प्राप्त करें:-
विद्यालयों द्वारा ऑनलाईन डाटा भरने में आ रही समस्या का समाधान पंचायत स्तर पर पीईईओ से, ब्लॉक स्तर पर मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी/कार्यक्रम प्रभारी(डाइस) कम्प्यूटर ऑपरेटर से, जिला स्तर पर अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक/कार्यक्रम प्रभारी (डाइंस) एवं जिला एमआईएस प्रभारी से प्राप्त कर सकते है। इस हेतु प्रत्येक स्तर पर यू-डाइस 2019-20 हेतु कार्यशालाओं का आयोजन कर सम्बंधित अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जा चुका है।राज्य स्तर से समस्या का समाधान करने हेतु सम्पर्क सूत्र यू-डाइस शाखा
राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद्, जयपुरः- 0141-2705483नोट:- दिनांक 20.02:2020 के पश्चात् किसी भी विद्यालय को यू-डाइस कोड़ नही दिया जावेगा। साथ ही यू डाइस प्रपत्र नही भरा जा सकता है।UDISE फिडिंग लिंक👇👇👇👇👇👇👇👇http://udiseplus.gov.in/home?loginId=1*UDISE PASSWORD RESET लिंक*👇👇👇👇👇👇👇👇👇http://udiseplus.gov.in/forgPinPage

यू-डाइस पोर्टल पर डाटा भरने की अंतिम तारीख बढ़ाकर की 29 फरवरी 2020

यू-डाइस सम्बंधित नवीनतम दिशा-निर्देश-

यू डाइस प्लस पोर्टल पर सत्र 2019 -20 का विद्यालय डाटा ऑनलाइन फीडिंग करने की अंतिम तिथि 20 फरवरी 2020 है। गत वर्ष ऑनलाइन डाटा फीडिंग कार्य किया गया था उसी यूजर आईडी जोकि विद्यालय का डाइस कोड होगा एवं पासवर्ड से इस सत्र का डाटा भी ऑनलाइन करना है यदि किसी विद्यालय के पास यू डाइस पासवर्ड अब तक संस्था प्रधान के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त नहीं हुआ है, तो विद्यालय के डाइस कोड ,संस्था प्रधान का नाम एवं उसके मोबाइल नंबर लिखकर मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय भेजें ताकि उन्हें पासवर्ड रिसेट करके भिजवाए जा सके।यदि किसी विद्यालय की श्रेणी परिवर्तित हुई है जैसे कि गत वर्ष विद्यालय कक्षा 1 से 8 तक संचालित होता था किंतु अब कक्षा 1 से 10 में क्रमोन्नत हो चुका है तो विद्यालय प्रोफाइल परिवर्तन के लिए विद्यालय के अधिकृत पत्र के साथ कार्यालय मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी से संपर्क करें।जिन राजकीय अथवा निजी विद्यालयों में संस्था प्रधान बदल गए हैं वह स्कूल वर्तमान में कार्यरत संस्था प्रधान का नाम मोबाइल नंबर एवं विद्यालय का डाईस कोड लिखकर मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय को व्यक्तिगत मैसेज करें ताकि उनके पासवर्ड रिसेट कर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भिजवाए जा सके।वर्तमान सत्र में नवीन मान्यता प्राप्त विद्यालय जिन्हें अब तक स्थाई डाइस कोड आवंटित नहीं हुआ है वे तत्काल निर्धारित प्रारूप में मान्यता आदेश की प्रति संलग्न कर डाइस कोड आवंटन हेतु कार्यालय मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी से संपर्क करें।समस्त नोडल प्रधानाचार्य प्रधानाध्यापक माध्यमिक( सी आर सी) अपने परिक्षेत्र के समस्त राजकीय निजी एवं मदरसा विद्यालयों के यू डाइस डाटा ऑनलाइन फीडिंग कार्य का निरंतर पर्यवेक्षण कर निर्धारित अंतिम तिथि से पूर्व इस कार्य को पूर्ण करवाएं ।विशेषU Dise plusजिन विद्यालयों का यू डाइस गूगल क्रोमा ( google chrome ) में नहीं चल रहा है वह फायरफॉक्स मोज़िला ( fire fox mozilla ) में लॉगइन पासवर्ड कर चलाएं, यहां यू डाइस का कार्य सही तरीके से संपादित हो रहा है।

यू-डाइस प्लस कैसे प्रयोग करें?

1. यू-डाइस के प्रयोग हेतु वेबसाइट पोर्टल निर्मित है ।यह साइट राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा डिज़ाइन, होस्ट, विकसित और अनुरक्षित है। इस वेबसाइट पोर्टल का लिंक http://udiseplus.gov.in है।
2. नम्बर 1 में अभिलिखित वेबसाइट पर स्कूल, ब्लॉक, जिला व स्टेट लॉगिन सुविधा उपलब्ध होती है। एक बार रजिस्ट्रेशन पश्चात आप कोड द्वारा लॉगिन हो सकते है। कोड भूल जाने की स्तिथि में दुबारा कोड प्राप्त किया जा सकता है इस हेतु आपको Forget Code पर क्लिक करना होता है। इस क्लिक के पश्चात आपके रजिस्टर ईमेल आईडी के माध्यम से अपनाई गई प्रक्रिया पश्चात आप नया कोड रजिस्टर कर सकते हैं।

विद्यालयों हेतु नवीन यू-डाइस आवंटन के सम्बन्ध में।

यू-डाइस का संकलन वर्ष 2018-19 से ऑन लाईन पोर्टल
http://udiseplus.gov.in के माध्यम से किया जाता है। वर्ष 2019-20 का यू-डाइस द्वारा सूचना संकलन उपरोक्त वेब पोर्टल पर किया जावेगा। इस पोर्टल पर पूर्व में पंजीकृत विद्यालय पोर्टल के मुख्य पृष्ठ पर उपलब्ध Know Your School लिंक द्वारा अपने यू-डाइस कोड की जानकारी प्राप्त कर सकते है। ऐसे विद्यालय जो कि उपरोक्त पोर्टल पर रजिस्टर नहीं है।वे निम्न प्रक्रिया द्वारा अपना यू-डाइस कोड प्राप्त कर सकेंगे-

नवीन यू-डाइस आवंटन की प्रक्रिया

विद्यालय द्वारा किये जाने वाला कार्य-
1. सर्व प्रथम विद्यालय जिसकों यू-डाइस कोड आवंटन करवाना है, उपरोक्त लिंक ( http://udiseplus.gov.in) द्वारा अपना विद्यालय सर्च कर सुनिश्चित कर लेवें कि विद्यालय को पूर्व मे यू-डाईस कोड आवंटित नहीं किया गया है।
2. यू-डाइस कोड आवंटित नहीं होने की स्थिति में पत्र के साथ संलग्न यू-डाइस आवंटन प्रपत्र में आवश्यक सूचनाएँ अंकित करें। प्रपत्र के साथ अपने विद्यालय की मान्यता की प्रति संलग्न करें। प्रपत्र व मान्यता की प्रति सहित विद्यालय के संस्थाप्रधान/उत्तरदायी व्यक्ति द्वारा स्व-हस्ताक्षरित व विद्यालय सील सहित प्रार्थना-पत्र मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी से प्रमाणित कराना।
3. प्रमाणित आवेदन प्रपत्र मान्यता की कॉपी सहित सम्बन्धित अतिरिक्त जिला परियोजना समन्व्यक समग्र शिक्षा कार्यालय के यू-डाइस शाखा में जमा कराये ।
4. यह ध्यान रहें कि प्रपत्र के सभी कॉलम में अनिवार्य रूप से सूचनाएँ अंकित होनी चाहिए। अधूरे भरे हुए प्रपत्र से यू-डाइस का आवंटन नहीं हो सकेगा।

विद्यालय यू-डाइस कोड आवेदन हेतु आवेदन-पत्र का प्रारूप।

यू-डाइस 2019-20 की प्रविष्टि प्रारम्भ

नवीनतम अपडेट दिनाँक 29 जुलाई 2020

यू-डाइस प्लस 2019-20 की वस्तुस्थिति

यू-डाइस प्लस 2019-20 की वस्तुस्थिति रिपोर्ट :1. शिक्षाकर्मी विद्यालय का प्रबन्धन बदलकर शिक्षा विभाग/ स्थानीय निकाय किया जाना है।2. ग्रामीण क्षेत्र के राजकीय प्राथमिक विद्यालय जिनका प्रबन्धन शिक्षा विभाग से बदलकर स्थानीय निकाय किया जाना है।
- 130 विद्यालय3. शहरी क्षेत्र के राजकीय प्राथमिक विद्यालय जिनका प्रबन्धन स्थानीय निकाय से बदलकर शिक्षा विभाग किया जाना है।
- 12 विद्यालय4. ग्रामीण क्षेत्र /शहरी क्षेत्र के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों का प्रबंधन केवल शिक्षा विभाग ही होगा। - 104 विद्यालय5.किसी ब्लॉक के एक ग्राम में स्थित सभी विद्यालयों की पंचायत / पी.ई.ई.ओ. एक ही रहेंगे।
.
नोट : उक्त समस्त कार्य ब्लॉक लॉगिन द्वारा पूर्ण किया जायेगा।1. राजकीय विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 में रिपीटर अधिक मात्रा में फीडिंग की गई है।2. राज्य स्तर से ई-मेल के माध्यम से विसंगतियों की सूचना दिनांक 22.06.20, 29.06.20, 06.07.20,
14.07.20, 20.07.20, 27.07.20 एवं परिषद् के पत्र क्रमांक 12895 दिनांक 10.07.20, क्रमांक 12747 दिनांक 06.07.20, क्रमांक 12317 दिनांक 22.06.20 द्वारा प्रेषित कि गई है।

विद्यालय लॉगिन द्वारा करणीय कार्य