Categories: News
| On 3 weeks ago

पीजी स्टूडेंट्स को यूजीसी (UGC) दे रही है छात्रवृति, जल्दी करें आवेदन

यदि आप भी पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट) की पढाई कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी (UGC) ने पोस्ट ग्रेज्युएट की पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट्स के लिए स्काॅलरशिप की घोषणा की है। ऐसे में यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो जल्दी ही आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य समाज के वंचित वर्ग के उम्मीदवारों को संबल प्रदान करना है। आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं होने की वजह से कई स्टूडेंट्स को स्ट्डी के दौरान दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वहीं पैसों के अभाव में कई स्टूडेंट्स को पढ़ाई भी बीच में छोड़नी पड़ती थी। इसको लेकर भारत सरकार की और से कई योजनाए चलाई जा रही है । इसी कर्म में

अब इंजीनियरिंग, फार्मेसी, सूचना विज्ञान सहित अन्य प्रोफेशनल विषयों की पढ़ाई कर रहे छात्रों को इस योजना का लाभ मिल सकेगा।

इन स्टूडेंट्स को मिलेगी स्काॅलरशिप


यूजीसी (UGC) के अनुसार भारतीय विश्वविद्यालय संस्थान या काॅलेज के एससी-एसटी के लगभग 1 हजार छात्रों को यह स्काॅलरशिप दी जाएगी। इसके तहत एमइ, एमटेक के तहत पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट) छात्रवृति पुरस्कार के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति माह 7 हजार 8 सौ रूपए की राशि स्काॅलरशिप के तौर पर दी जाएगी। वहीं अन्य पाठ्यक्रमों के लिए 4 हजार 5 सौ रूपए की राशि प्रति माह स्काॅलरशिप के तौर पर दी जाएगी। इसके लिए चयन होने के बाद पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट) प्रथम वर्ष में शामिल होने की तारीख से स्काॅलरशिप का भुगतान किया जाएगा। ध्यान रहें यह योजना सिर्फ ऊपर दिए गए वर्ग के स्टूडेंट्स के लिए ही है।

आवेदन करने से पहले जान लें यह जरूरी बातें

  • यदि आप भी इस घोषणा के तहत स्काॅलरशिप लेना चाहते हैं तो योजना में आवेदन करने से पूर्व जरूरी जानकारी समझ लें।
  • आवेदन करने वाले आवेदकों को मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी, संस्थान या काॅलेज से नामांकित होना चाहिए।
  • एमए, एमएससी, एमकॉम, एमएसडब्ल्यू व मास कम्युनिकेशन एवं जर्नलिज्म की डिग्री, गैर.व्यावसायिक पाठ्यक्रम के तौर पर स्वीकार की जाएगी।
  • इसके अलावा पत्राचार या डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से प्रोफेशनल विषयों में पीजी करने वाले उम्मीदवार इस योजना के तहत वित्तीय सहायता प्राप्त करने के हकदार नहीं माने जाएंगे।
  • यूजीसी (UGC) की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार पुरस्कार का कार्यकाल पीजी कोर्स (पोस्ट ग्रेजुएट) के कार्यकाल के आधार पर दो या तीन वर्ष के लिए होता हैं।
  • योजना के तहत चयनित होने वाले
    स्टूडेंट्स को स्काॅलरशिप राशि का भुगतान डीबीटी (DBT) मोड के माध्यम से ही किया जाएगा।
  • योजना में चयनित आवेदक के अगली कक्षा में पास होने में असफल रहने पर स्काॅलरशिप वापस ले ली जाएगी।

स्काॅलरशिप के लिए इस तरह से करें आवेदन


यदि आप भी उपर दिए गए बिंदुओं के तहत पात्र हैं तो आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवश्यक बिंदुओं के तहत पात्रता रखने वाले आवेदक 30 नवम्बर 2021 से पहले नेशनल स्काॅलरशिप पोर्टल (NSP) पर आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। वहीं सत्यापन प्रक्रिया विंडो 15 दिसम्बर 2021 तक खुली रहेगी। इसके अलावा आवेदन जिस संस्थान में पढ़ाई कर रहा है वहां से आवेदन को आॅनलाइन प्रमाणित करवाना भी जरूरी है।

आधार है अनिवार्य


यूजीसी (UGC) की ओर से जारी निर्देशों के मुताबिक आवेदकों को यूजीसी फेलोशिप या स्काॅलरशिप के लिए आवेदन करते समय आवेदको ंको आधार नम्बर (UID) भी देना जरूरी होगा। इस प्रकार की जानकारी यूजीसी की ओर से जारी विज्ञप्ति के माध्यम से बताई गई है।
यूजीसी के मुताबिक आधार-यूजीसी (UGC) स्काॅलरशिप फेलोशिप योजनाओं का लाभ उठाने के लिए पहचान के लिए काम में लिया जाएगा। यूजीसी (UGC) ने आवेदकों को यूजीसी फेलोशिप या स्काॅलरशिप के लिए आवेदन करते समय आधार क्रमांक (UID NO.) देने की अपील की है।