Categories: InternationalNews
| On 3 days ago

US India Green Card : भारतीयों को मिल सकती है अमेरिकी नागरिकता, अमेरिका ने दिए संकेत

US India Green Card News : पिछले कई वर्ष से अमेरिकी नागरिकता की राह देख रहे लोगों के लिए यह राहत की खबर है। अब अमेरिकी संसद एक ऐसे बिल पर मंथन कर रही है कि जिसमें ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे लोगों को निर्धारित शुल्क एवं कुछ शर्तें पूरी करने के बाद अमेरिका की नागरिकता मिल सकेगी। हालांकि, बिल अभी शुरुआती दौर में है। इसकी प्रक्रिया में थोड़ा समय भी लग सकता है। क्योंकि ग्रीन कार्ड का बैकलॉग काफी लंबा होता है और लाखों लोग खासतौर पर आईटी प्रोफेशनल्स इसका शिकार बनते हैं। उन्हें समय-समय पर अपना वर्क वीजा रिन्यू करवाना पड़ता है।

US India Green Card Latest News : अमेरिकी संसद का यह बिल रीकन्सीलिएशन पैकेज का हिस्सा है जो हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में प्रस्तुत किया गया है। Green Card को परमानेंट रेसीडेंट कार्ड PRC भी कहा जाता है। यह इमीग्रेंट्स यानी दूसरे देशों के अप्रवासियों के लिए जारी किया जाता है।

US India Green Card लीगल कमेटी ने दी जानकारी

US India Green Card बिल पर हाउस हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की ज्यूडिशियरी कमेटी अभी मंथन कर रही है। आपको बता दें की इमीग्रेशन संबंधी मामलों पर फैसले लेने का काम यही कमेटी करती है। कमेटी की और से जारी लिखित बयान के अनुसार , Green Card के लिए आवेदनकर्ता को 5 हजार डॉलर की सप्लीमेंटल शुल्क राशि देनी होगी। इसके अलावा यदि कोई अमेरिकी नागरिक किसी इमीग्रेंट को प्रायोजक करता है तो इन हालात में फीस आधी हो जाएगी।

आवेदक की प्रॉयोरिटी तिथि दो वर्ष से ज्यादा है तो यह फीस 1500 डॉलर होगी। एक रिपोर्ट के अनुसार यह फीस अन्य प्रोसेसिंग शुल्क से भिन्न होगी। दूसरे शब्दों में कहें तो यह राशि अलग से देनी होगी एवं प्रोसेसिंग में लगने वाला खर्च अलग होगा।

अभी करना पड़ सकता है इंतजार

US India Green Card को लेकर अमेरिकी सरकारों का

रुख समय समय पर बदलता देखा गया है। पूर्व में डोनाल्ड ट्रम्प के दौर में तो काम करने वाले वीजा मिलना भी मुश्किल हो गए थे। ट्रम्प का यह कहना था कि कंपनियों की प्रथम प्राथमिकता अमेरिकी नागरिकों को ही नौकरी देना होना चाहिए। वर्तमान राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इसका विरोध भी किया था साथ ही सुधारों का वादा किया था। हालांकि, इस मामले पर उन्हें भी अभी तक कोई खास कामयाबी नहीं मिली है।

यह भी पढ़ें

ACB Action In Rajasthan : एसीबी के निशाने पर रहे इन मंत्रियों के विभाग
NEP IN MP : मध्यप्रदेश में स्टूडेंट्स पढ़ेंगे रामायण व महाभारत
Tamil Nadu Scrap NEET : तमिलनाडु में NEET को रद्द करने का प्रस्ताव किया पास, अब 12वीं के अंकों के आधार पर मिलेगा प्रवेश
USA Pak News : अब अमेरिका ने पाकिस्तान पर लगाया यह आरोप
Covid Vaccine News : अब भारत के इस टीके को जल्द मिल सकती है WHO की मान्यता
Congress Manifesto : राजस्थान में अल्पसंख्यको से किए वादे अभी तक अधूरे

Covid Death Guidelines : सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद अब सरकार ने कोरोना से मौत को लेकर जारी की गाइडलाइन
Panchayati Raj Election : अब दिल्ली पहुंचा जिला परिषद चुनाव में क्रॉस वोटिंग का मामला
CM Gehlot Claimed : 2023 में फिर से बनेगी कांग्रेस सरकार
College Education News : कॉलेजों में नहीं है गुरु, भारत कैसे बनेगा विश्व गुरु
International News : पाकिस्तान को भारत के मुद्दे पर लगा जोर का झटका

अगर इस US India Green Card की बात की जाए तो यह साफ है कि इसके पास होने में काफी समय लग सकता है। क्योंकि अभी तो लीगल कमेटी ही इस पर मंथन कर रही है। फिर इस पर दोनों सदनों में लंबी बहसभी होगी। इसमें कई प्रस्ताव आएंगे इसके बाद फिर इन पर बहस होगी। यदि ये सब पूरा हो जाता है तो फिर अंतिम निर्णय राष्ट्रपति करेंगे। उनके हस्ताक्षर के बाद ही बिल कानून बन सकेगा।

कई लोगों को होगा फायदा


US India Green Card को लेकर एक रिपोर्ट के अनुसार यदि यह बिल पास हो जाता है तो उन लोगों को भी फायदा होगा जो छोटी उम्र में ही अमेरिका आए थे एवं जिनके पास इमीग्रेशन डॉक्यूमेंट्स नहीं हैं। इसके साथ ही खेती या कोरोना के दौरान बेहद जरुरी सेवाओं मे काम करने वाले लोग भी इसका फायदा ले सकेंगे। US India Green Card को लेकर कई लोगों का कहना है कि इस बिल से इंडियन एवं चाइना के नागरिकों को ज्यादा फायदा होगा। हालांकि, कुछ लोगों का यह भी मानना है की इस बिल से अप्रवासियों को एक ही जैसे फ्रेमवर्क में लाया जा सकेगा।