Categories: News
| On 2 years ago

US Iran controversy: what will be the impact on India?

बड़ा विवाद: क्या ट्रम्प की चेतावनी से ईरान झुकेगा?

सन 2015 से अमेरिका व ईरान के बीच तनाव निरन्तर बढ़ता ही जा रहा है। ईरान द्वारा अपनी न्यूक्लियर क्षमता बढ़ाने के प्रयासों पर अमेरिकी रोक इसका प्रमुख कारण है। अमेरिका व ईरान के बीच पिछले दिनों से आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला बना हुआ था।

घटनाक्रम में नवीनतम मोड़ तब आया जबकि

अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके स्पष्ट रूप से ईरान को चेताया है कि अमेरिका पर किसी भी प्रकार का हमला ईरान का आधिकारिक रूप से समापन होगा।
विश्व के सर्वाधिक शक्तिशाली राष्ट्र की इस चेतावनी को पूर्ण गम्भीरता से लिया जाना चाहिए।

घटनाक्रम में सबसे महत्वपूर्ण यह है कि गत रविवार को इराकी क्षेत्र बगदाद के ग्रीन इलाके में एक

रॉकेट दागा गया था। इस इलाके में विदेशी दूतावास व कार्यालय स्तिथ है। कथित रूप से यह रॉकेट अमेरिकी दूतावास के पास की एक इमारत से टकराया था। इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नही ली हैं। हालांकि इस हमले में किसी नुकसान की खबर नही है लेकिन हमला होना अपने आप में एक बुरी खबर हैं।

यह भी गौरतलब है कि अमेरिका

ने गत दिनों अपने विशालकाय विमानवाहक पोत यूएसएस अब्राहम लिंकन को इलाके में तैनात किया है एवं बड़ी संख्या में अमेरिकी सैनिकों को भेजने की तैयारी भी की जा रही है। इधर ईरान द्वारा नावों में मिसाइलों की तैनाती की खबरे है।

इस घटनाक्रम से पूरे विश्व मे एक गहमागहमी का माहौल बन रहा है। भारत भी इस घटनाक्रम से अछूता नही रह सकता है।

भारत के अमेरिका से गहरे दोस्ताना सम्बंध है एवं भारत ईरान से भारी मात्रा में कच्चा तेल खरीदता हैं।

घटनाक्रम अत्यंत महत्वपूर्ण है एवं इस समस्त घटनाक्रम के पीछे भूतकाल व भविष्यकाल भी सम्बंधित है। कोई भी बात अकारण नही होती अतः आपको हम लगातार अवगत कराते रहेंगे।
आप हमसे जुड़े रहिए।
www.shivira.com