Categories: Health

सौंफ के बीज क्या है? (What is Fennel Seeds in Hindi)

सौंफ के बीज क्या है? का उपयोग प्राचीन काल से मुंह को शुद्ध करने और घरेलू औषधि के रूप में होता आ रहा है। इसका पौधा लगभग एक मीटर ऊंचा तथा सुगन्धित होता है। इसके पत्तों का प्रयोग सब्जी के रूप में भी किया जाता है। भूमध्यसागरीय इलाके में सौंफ जैसा ही एक पौधा (fennel in Hindi) पाया जाता है जिसे एनीसीड कहते हैं। इसका उपयोग इटालवी भोजन में किया जाता है।

सौंफ के बीज क्या है? (What is Fennel Seeds in Hindi) :

सौंफ का उपयोग घरों में भी अनेक तरह से किया जाता है इसलिए आप लोग बराबर सौंफ का सेवन करते होंगे। वास्तव में छोटा सा दिखने वाला सौंफ बहुत ही गुणकारी होता है लेकिन अधिकाश लोग सौंफ के इस्तेमाल के बारे में बहुत अधिक नहीं जानते होंगे। आपको शायद यह पता नहीं होगा कि सौंफ एक औषधि है और इसके बारे में आयुर्वेद में बहुत सारी बातें बताई गई हैं।

पतंजलि के अनुसार, सौंफ वात तथा पित्त को शांत करता है, भूख बढ़ाता है, भोजन को पचाता है, वीर्य की वृद्धि करता है। हृदय, मस्तिष्क तथा शरीर के लिए लाभकारी होता है। यह बुखार, गठिया आदि वात रोग, घावों, दर्द, आँखों के रोग, योनि में दर्द, अपच, कब्ज की समस्या में फायदा पहुंचाता है। इसके साथ ही यह पेट में कीड़े, प्यास, उल्टी, पेचिश, बवासीर, टीबी आदि रोगों को ठीक करने में भी सहायता करता है। इसके अलावा सौंफ का प्रयोग कई अन्य रोगों में भी किया जाता है।

सौंफ के फायदे (Benefits of Fennel in Hindi) :

हमारे किचन में ऐसे बहुत से मसाले जो खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ सेहत का ख्याल रखने का भी काम करते है। उनमें से एक है सौंफ। सौंफ में विटामिन, फाइबर, कैल्शियम, एंटी- ऑक्सीडेंट, एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- फंगल गुण होते है। इसे रोजाना भोजन के बाद खाने से पेट साफ होता

है। इसके अलावा इसका पानी तैयार कर पीने से बीमारियों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है। दिल स्वस्थ रहने के साथ बीमारियों के होने के खतरा कम रहता है। तो आइए सौंफ खाने से मिलने वाले अन्य फायदों के बारे में -
  • सौंफ में विटामिन सी की जबर्दस्त मात्रा है और इसमें आवश्यक खनिज भी हैं जैसे कैल्शियम, सोडियम, फॉस्फोरस, आयरन और पोटेशियम।
  • 1-2 ग्राम सौंफ की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से कब्ज में लाभ होता है। सौंफ के बीज का काढ़ा बना लें। इसे 5-10 मिली मात्रा में भोजन के प्रत्येक ग्रास के साथ छोटे बच्चों को पिलाने से बच्चों का कब्ज ठीक होता है। आयु के अनुसार मात्रा में सौंफ के बीजों (fennel in Hindi) की चटनी का सेवन करने से डकार और पेट की गैस की समस्या ठीक होती है।
  • सौंफ को पानी के साथ पीसकर ललाट पर लगाने से सिरदर्द से आराम मिलती है। सौंफ खाने से सिरदर्द से आराम मिलता है।
  • बहुत से लोगों को खासतौर पर बच्चों को अपच की समस्या रहती है। ऐसे में सौंफ का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। इससे राहत पाने के लिए 2 टेबलस्पून सौंफ को दो कप पानी मिक्स कर इसे 1/4 होने तक उबालें। उसके बाद तैयार पानी को छननी की मदद से छान लें। पानी के ठंडा होने के बाद इसे 1-1 चम्मच कर दिन में 2-3 बार पीएं। अपच और पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं से राहत मिलेगी।
  • सौंफ हरी और कुरकुरी सौंफ हम सभी मुखवास के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। यही सौंफ सेहत के लिए भी खासी गुणकारी है –
  • पेट की बीमारियों के लिए यह बहुत प्रभावी दवा है जैसे मरोड़, दर्द और गैस्ट्रिक डिस्ऑर्डर के लिए।
  • सौंफ आपकी याददाश्त बढ़ाती है।
  • सौंफ का नियमित सेवन दृष्टि को तेज करता है। 5-6 ग्राम सौंफ रोज लेने से लीवर और आंखों की ज्योति ठीक रहती है।
  • सिंकी हुई सौंफ मिश्री के साथ खाने से आवाज तो मधुर होती ही है यह खांसी भी भगाती है।

तनाव करें कम :

जो लोग डिप्रेशन से जुझ रहें हैं। उनके लिए सौंफ का पानी (saunf water benefits in Hindi) पीना काफी फायदेमंद होता है। इसके सेवन से दिमाग शांत हो बेहतर ढंग से काम करता है। साथ ही तनाव कम होने में मदद मिलती है। इसके लिए 1 टेबलस्पून पानी को गुनगुने पानी में पीना चाहिए।

मोटापा करें कम :

सौंफ में विटामिन, कैल्शियम, फाइबर अधिक मात्रा में होने से इसके पानी का सेवन करने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। ऐसे में वेट बढ़ने का खतरा कम रहता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाएं :

रोजाना 1 टेबलस्पून सौंफ में 1/2 टेबलस्पून मिश्री मिक्स कर खाने से आंखों की रोशनी बढ़ने में मदद मिलती है। इसके अलावा आप सौंफ और मिश्री का पाउडर बनाकर रोजाना रात को दूध में मिक्स कर भी सेवन कर सकते है। इससे आंखों की रोशनी बढ़ने के साथ इससे जुड़ी समस्याओं के होने का खतरा कम रहता है।

पेट रखें स्वस्थ :

रोजाना खाने के बाद 1 टेबलस्पून सौंफ को खाने से पेट स्वस्थ रहता है। इसके सेवन से पेट से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम रहता है। खासतौर पर जिन लोगों को कब्ज की समस्या रहती है। उन्हें इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

पीरियड्स में फायदेमंद :

जिन महिलाओं को पीरियड्स रेगुलर न आने की परेशानी होती है। उन्हें पीरियड्स के दिनों में रोजाना सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में 1 टेबलस्पून सौंफ मिक्स कर पीना चाहिए। इसमें मौजूद एंटी- ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल गुण पीरियड्स को रेगुलर करने के साथ पीरियड पेन से राहत दिलाने का काम करती है।

दिल का रखें ख्याल :

रोजाना सौंफ का पानी पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। इस तरह दिल से संबंधित बीमारियों के होने का खतरा कम रहता है।

इम्युनिटी के लिए सौंफ के फायदे (Fennel Benefits For Strong Immunity In Hindi)
:

सौंफ के फायदे एंटी इंफ्लामेट्री, एंटी माइक्रोबियल, एंटी बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण से भरपूर होते हैं। सौंफ खाने के फायदे इम्यूनिटी स्ट्रोंग करने में भी मदद कर सकते हैं। बैक्टीरियल इंफेक्शन जैसे कि बुखार, ज़ुकाम से बचे रहने में मदद करता है। जो लोग रोज़ाना सौंफ का सेवन करते हैं वो लोग कम बीमार होते हैं। केम्फेरफेरोल और क्वेरसेटिन यह दो ऐसे एंटीऑक्सीडेंट हैं जो चोट और घाव में जल्द आराम दिलाते हैं। जिसके बाद कहा जा सकता है कि सौंफ खाने के फायदे लाभदायक होते हैं।

यह भी पढ़े :

सौंफ का उपयोग कैसे करें? (How to Use Fennel in Hindi) :

सौंफ के फायदे जानने के बाद सौंफ का उपयोग करना भी आना चाहिए। अगर आपको सौंफ कच्ची खानी पसंद नहीं है तो आप इसको दूसरे तरीके से खा सकते हैं। सौंफ को खाना इसलिए जरुरी होता है क्योंकि सौंफ खाने के फायदे  बहुत सारे हैं। फायदो के बारे में जानने से पहले आप इसको खाने के तरीको के बारे में जान लें। नीचे से आप सौंफ का पानी बनाने की विधि की जानकारी भी ले सकते हैं।

  • सौंफ का पानी- एक कप सौंफ, 8 ग्लास पानी और थोड़ा सा शहद लें और सबको मिलाकर एक पेस्ट बना लें। इन सबको पूरी रात भीगने के लिए छोड़ दें ताकि पानी में सौंफ का फ्लेवर अच्छे से आ जाए। अगली सुबह पानी को छान लें और पूरा दिन सौंफ का पानी पीएं।
  • सौंफ की चाय- ग्रीन टी या ब्लैक टी बनाते समय उसमें थोड़े सौंफ के दाने
    भी डाल दें और सौंफ के फ्लेवर वाली चाय का स्वाद लें। सौंफ की चाय पीने से आप पेट की परेशीन से दूर रहेंगे।
  • तड़का लगाने के लिए- सब्जी या किसी और चीज़ में तड़का लगाते समय आप सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सलाद में डालें- सौंफ के दानों को पीसकर उसका पाउडर बना लें। पाउडर बनाने के बाद इसको सलाद के ऊपर छिड़कर सलाद का स्वाद लें। सौंफ के पाउडर को आप कई जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

सौंफ को डाइट में आसानी से और कई तरीके से शामिल किया जा सकता है। आपको बता दें कि सही तरीके से सौंफ का सेवन करने से सौंफ के कई फायदे आपको आसानी से प्राप्त हो सकते हैं जैसे कि कब्ज से राहत, स्ट्रोंग इम्युनिटी, सेहतमंद दिल आदि। वेट लॉस के लिए सौंफ के पानी की सेवन सही मात्रा में किया जा सकता है। अगर आप सौंफ का सेवन डाइट में शामिल कर रहे हैं तो सही मात्रा में ही शामिल करें।