Categories: Health

World First Aid Day - प्राथमिक उपचार क्या है और क्यों जरूरी है? जानें घर में प्राथमिक उपचार के जरूरी चीजें

World First Aid Day (विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस) - वर्ल्‍ड फर्स्ट एड डे इस दिन की शुरुआत इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज (IFRC) ने सन 2000 में की थी तब से ही हर वर्ष सितम्बर महीने के दूसरे शनिवार को वर्ल्‍ड फर्स्ट एड डे मनाया जाता है इस दिन का मकसद यह है की लोगों को इस बारे में जागरूक करना कि वे रोजमर्रा के जीवन में संकट के हालात में किस तरह से प्राथमिक चिकित्सा के जरिये लोगों की मदद करें यही वजह है कि हर वर्ष वर्ल्‍ड फर्स्ट एड डे पर लोगों को प्राथमिक चिकित्सा के फायदे, प्राथमिक चिकित्सा की जरूरत और घर में फर्स्ट एड बॉक्स रखने के बारे में जागरूक किया जाता है।

बच्चों को स्‍कूलों में प्राथमिक चिकित्सा के बारे में सिखाया जाता है, लेकिन समय के साथ लोग सेहत के लिए जरूरी इन बातों को भूल जाते हैं किंतु इसके बारे में जानकारी होना बहुत आवश्यक है, जिससे प्राथमिक चिकित्सा के जरिये Accident (एक्सीडेंट) आदि की स्थिति में घायल व्यक्ति की जान बचाई जा सके ऐसे में हर किसी को First Aid (फर्स्ट एड) का उपयोग करने के बारे में जानकारी होना जरूरी है।

सबसे पहले यह समझना जरूरी होता है कि First Aid (फर्स्ट एड) होता क्या है और First Aid (फर्स्ट एड) के लिए किन चीजों की जरूरत होती है, जिससे तत्काल प्राथमिक उपचार किया जा सके First Aid (फर्स्ट एड) का अर्थ है किसी मरीज/घायल व्यक्ति को Medical (मेडिकल) सहायता मिलने से पहले दी जाने वाली चिकित्‍सा

First Aid Box (फर्स्‍ट एड बॉक्‍स) में कुछ आवश्यक चीजें होनी चाहिए जैसे Detol (डिटॉल) ताकि घाव को साफ किया जा सके.

Cottan (कॉटन/रुई), Bandage (बैंडेड/बैंडेज/पट्टी) Box (बॉक्‍स) में रखी होनी चाहिए उसके साथ कैंची, Medically Proved Cream (मेडिकली प्रूव्ड क्रीम), Hand Sanitizer (हैंड सैनिटाइजर), दर्द निवारक दवाएं होनी चाहिए Aspirin (एस्पिरिन) की Teblet (टैबलेट) ताकि Heart Attack (हार्ट अटैक) या Stroke (स्ट्रोक) की स्थिति में मरीज/पीड़ित के Blood(खून) को पतला किया जा सके और Thermometer (थर्मामीटर) आदि जरूर होने चाहिए।

health Shivira

First Aid day : क्या है प्राथमिक उपचार?-

First Aid day : प्रथमिक उपचार का मतलब यह है की किसी रोग के होने या किसी को चोट लगने पर जो सीमित उपचार किया जाता है उसे प्राथमिक चिकित्सा (First Aid) कहते हैं। प्राथमिक उपचार का उद्देश्य कम से कम साधनों में इतनी व्यवस्था करना कि चोटग्रस्त व्यक्ति को सम्यक इलाज कराने की स्थिति में लाने में व लगने वाले समय में कम से कम हानि हो। प्राथमिक चिकित्सा एक प्रशिक्षित या अप्रशिक्षित द्वारा कम से कम साधनों में किया गया सरल उपचार होता है। प्राथमिक उपचार कभी-कभी जीवन रक्षक भी सिद्ध हो जाता है।

First Aid day : क्यों महत्वपूर्ण है प्राथमिक उपचार?-

First Aid day : कई बार किसी व्यक्ति की तबीयत खराब या कोई दुर्घटना ऐसी जगह पर हो जाती है, जहां से Medical (मेडिकल) सहायता बहुत दूर हो या कोई ऐसा समय जब आस-पास कोई Medical (मेडिकल) सहायता मिलना मुश्किल होता है। ऐसे में अगर रोगी/चोटिल व्यक्ति को उसके हाल पर ही छोड़ दिया जाए, तो कई

बार उसकी मौत/जान जा सकती है। किन्तु घटनास्थल पर ही First Aid (प्राथमिक उपचार) कर देने से व्यक्ति के शरीर को Medical (मेडिकल) सहायता मिलने तक उसे थोड़ी मदद मिल जाती है।

First Aid day : कौन कर सकता है प्राथमिक उपचार?-

First Aid day : दवाओं, इंजेक्शन की जानकारी सामान्यतौर पर Certified Doctors (सर्टिफाइड डॉक्टर्स) और Nurse (नर्स) को ही होती है। किन्तु First Aid (फर्स्ट एड) कैसे किया जाता है, इसकी जानकारी हो तो इसे कोई भी व्यक्ति बीमार/चोटिल व्यक्ति की मदद कर सकता है। जिसके लिए किसी Degree (डिग्री) या Certificate (सर्टिफिकेट) की जरूरत नहीं होती है। First Aid (फर्स्ट एड) करना आसान होता है, इसे कोई भी कर सकता है, लेकिन इसे करते समय सावधानी रखना भी जरूरी है, अन्यथा कई बार स्थिति गंभीर हो जाती है।

First Aid (प्राथमिक उपचार) करने वाले व्यक्ति के गुण-

  • विवेकी (observant)- वह दुर्घटना के चिन्ह पहचान सके
  • व्यवहारकुशल (tactful) - घटना संबंधी जानकारी जल्द से जल्द प्राप्त कर रोगी का विश्वास प्राप्त कर सकें
  • युक्तिपूर्ण (resourceful) - निकटतम साधनों का उपयोग कर सकें
  • निपुण (dexterous) - ऐसे उपायों को काम में लाए जो कि रोगी को उठाने इत्यादि में कष्ट न हो सकें
  • स्पष्टवक्ता (explicit) - लोगों की सहायता में ठीक से अगुवाई कर सके
  • विवेचक (discriminator) - गंभीर एवं घातक चोटों को पहचान कर उनका उपचार करना
  • अध्यवसायी (persevering) - तत्काल सफलता न मिलने पर निराश न हो
  • सहानुभूतियुक्त (sympathetic) - जिससे रोगी को हिम्मत /ढाढ़स दे सके।

First Aid day : प्राथमिक उपचार के लिए घर में कौन सी चीजें हैं जरूरी?-

  • जले या कटे पर लगाने के लिए मलहम या Cream (क्रीम), Bitadin (बीटाडीन), Barnaal (बरनॉल)।
  • पट्टी
  • Cotton (कॉटन/रूई)
  • कैंची
  • Antiseptic Liquid (एंटीसेप्टिक लिक्विड)
  • Hand Senitizer (हैंड सैनिटाइजर)
  • दर्द निवारक दवाएं
  • Bandage (बैंड-एड)
  • गर्म पट्टी
  • Aspirin Tablet (एस्पिरिन टैबलेट), ताकि Heart Attack /Strock (हार्ट अटैक या स्ट्रोक) की स्थिति में मरीज के Blood (ब्लड/खून) को पतला किया जा सके
  • Thermometer (थर्मामीटर)
  • Emergency (इमरजेंसी) में पट्टी और रूई की जगह साफ कपड़े या रूमाल का भी प्रयोग।

यह भी पढ़े :

क्यों चर्म रोग होता है ? कैसे चर्म रोग से बचे ?
जाने कितना होना चाहिए कोलेस्ट्रॉल लेवल ? Cholestrol Level range and cure in hindi
अलसी बीज के फायदे, नुकसान व उपयोग
E-Cigarette पीने वाले हो जाएं सावधान, कैंसर समेत कई रोगों के हो सकते हैं शिकार
Suicide Prevention Day 2021: तनाव, गुस्सा दूर कर मन को शांत कैसे रखें
First Aid day : प्राथमिक उपचार के वक्त अक्सर लोग करते हैं ये 6 गलतियां, हो सकते हैं कई खतरे-
  • जले/जलने पर बर्फ लगाना - बहुत बार लोग जले पर बर्फ लगा लेते हैं लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे त्वचा को नुकसान भी पहुंच सकता है।
  • नाक से Blood (खून) बहते समय - नाक से खून बहने के समय अपने सिर को पीछे की और नही रखें क्योंकि इससे Blood (खून) का बहना बंद नही होता है
  • घायल/पीड़ित व्यक्ति को हिलाना - कोई व्यक्ति घायल हो जाता है, तो उसे हिलाने-डुलाने की कोशिश न करें।ऐसा करने से उसे रीढ़ की हड्डी में गंभीर चोट लग सकती है और दिमाग पर काफी गहरा असर भी पड़ सकता है।
  • मोच/ Frecture (फ्रैक्चर) पर गर्म चीजें डालना- टूटी हड्डी पर गर्म चीजे कभी ना डाले क्योंकि ऐसा करने से प्रभावित स्थान पर सूजन बढ़ने का खतरा हो सकता है।
  • आंख से कचरा निकलना - एक छोटा कण आंखों में जलन पैदा कर सकता है आंख को जोर से कभी ना रगड़ें क्योंकि इससे आंखों को नुकसान पहुंच सकता है।
  • सांप के काटने पर- सांप ने काटा हो तो रोगी को चलने से रोकें और हलचल न करने दें। काटे स्थान के दो इंच ऊपर पट्टी बांधें, जिससे शरीर के अन्य अंग में जहर न फैल पाये। जल्द से जल्द टिटनेस का इंजेक्शन देने की कोशिश करें।

First Aid day : प्राथमिक उपचार के लिए घर में कौन सी चीजें हैं जरूरी-

  • रोगाणुमुक्त चिपकने वाली पट्टियाँ रखें
  • सोखने वाली जाली/पैड्स के छोटे रोल रखें
  • चिपकने वाली टेप रखें
  • त्रि-कोणीय और रोलर पट्टियां रखें
  • रुई
  • Bandage (बैंड-एड्स)
  • कैंची
  • Torch (टॉर्च)
  • दस्ताने
  • चिमटी
  • सुई
  • साफ सूखे कपड़े के टुकड़े
  • एंटीसेप्टिक
  • थर्मामीटर
  • पेट्रोलियम जेली या अन्य लुब्रिकेंट का ट्यूब
  • SAftey Pines (सेफ्टी पिन्स)
  • सफाई करने का घोल/ साबुन
  • एस्पिरिन या पैरासिटामॉल दर्द निवारक
  • दस्त के लिए दवा
  • मधुमक्खी के काटने पर लगाई जाने वाली एन्टिहिस्टामाइन क्रीम
  • ऐन्टासिड (पेट की परेशानी के लिए)
  • लैग्ज़ेटिव (पेट साफ़ करने की दवाई)