Categories: Health

WORLD HEART DAY विश्व हृदय दिवस

WORLD HEART DAY (विश्व ह्रदय दिवस) -विश्व हृदय दिवस यानि जिसे हम सभी World Heart Day (वर्ल्ड हार्ट डे) के नाम से जानते हैं। यह प्रतिवर्ष 29 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य हृदय से संबंधित होने वाले रोगों, बिमारियों, उनके परिणामों तथा उनकी रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करना है। पुरे विश्व में हृदय रोग से होने वाली मौतों की दर सबसे अधिक होती है।

इस दिवस के आयोजन की पहल सर्वप्रथम विश्व हृदय संघ के निदेशक Antony Bes De Luna (आंटोनी बेस दे लुना) ने (डब्ल्यूएचओ) WHO (World Health Organization)के साथ मिलकर सन 1999 में की थी इस दिवस की स्थापना लोगों को ह्रदय की जानकारी देने के लिए की गयी थी, की किस प्रकार वे एक स्वस्थ हृदय का वातावरण बना सकते हैं, तथा किस प्रकार वे एक स्वस्थ जीवन शैली अपना कर हृदय से संबंधित रोगों पर रोक लगा सकते है।

वर्ष 2011 से पहले तक विश्व हृदय दिवस हर वर्ष सितंबर माह के आखिरी रविवार को मनाया जाता था। किन्तु, वर्ष 2011 के बाद से यह दिवस प्रतिवर्ष 29 सितंबर को मनाया जाने लगा। जब विश्व के नेताओं ने वर्ष 2012 में वर्ष 2025 तक गैर-संचारी बीमारियों से वैश्विक मृत्यु दर को 25% तक घटाने का संकल्प लिया तो तब से यह दिवस 29 सितंबर को हर वर्ष मनाना तय किया था।

विश्व हृदय दिवस हमारे लिए अहम इसलिए है, क्योंकि हमारा हृदय यानी हार्ट/दिल जो शरीर के

सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक होता है। हृदय ही हमारी कोशिकाओं को Oxygen (ऑक्सीजन) और Nutrients (पोषक तत्व) पहुंचाता है, और Waste Products (अपशिष्ट उत्पादों) को भी हटाने का काम करता है हृदय की किसी भी समस्या को हमें गंभीरता से लेनी चाहिए, क्योंकि यह हमारी लंबी उम्र और जीवित रहने से जुड़ा होता है।
image 114 Shivira

जीवनशैली Life Style (लाइफस्टाइल) में बदलाव के कारण लोगों को कई तरह की बीमारियां घेर रही हैं। तनाव के कारण, खान-पान पर ठीक से ध्यान न देना, शराब का उपयोग, धुम्रमान के सेवन के कारण के चलते हृदय संबंधी बीमारियां लोगों को घेर रही है।

अव्यवस्थित दिनचर्या के कारण यह बीमारियां हर उम्र के लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं। वह चाहे फिर युवा हो या बुजुर्ग किसी भी आयु वर्ग में यह बीमारियां ग्रसित कर रही हैं। इन्हीं बातों का ध्यान रखते हुए विश्व में हृदय के प्रति जागरूक करने और हृदय संबंधी समस्याओं से बचने के लिए विभिन्न उपायों पर दृष्टि डालने के मकसद से विश्वभर में हर साल 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

ह्रदय किसे कहते हैं what is heart in hindi -

हृदय एक पेशी अंग है, जो कि जो हमारे परिसंचरण तंत्र के केंद्र में होता है। इस प्रणाली में केशिका, शिराओं और धमनियों का एक संजाल होता हैं। यहाँ से रक्त वाहिकाएं, हमारे शरीर के सभी भागों में रक्त को लेकर जाती हैं। इस प्रकार यह शरीर का

सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है। हृदय रोग, हृदय एवं रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करने वाले रोग विकारों का समूह है, जो कि फेफड़े, मस्तिष्क, गुर्दे और शरीर के अन्य भागों में रक्त की आपूर्ति को बाधित करता है।

वर्ल्ड हार्ट डे 2021 की थीम क्या है What is the theme of World Heart Day 2021 in hindi -

World Hear tDay (वर्ल्ड हार्ट डे) 2021 का थीम है की जागरूकता लाने के लिए Digital (डिजिटल) स्वास्थ्य की शक्ति का उपयोग करना और विश्व स्तर पर CVD (सीवीडी) के रोकथाम और प्रबंधन की जानकारी देना। हृदय रोग CVD (सीवीडी) दुनिया भर में मौत का प्रमुख कारण है।

कोरोनरी धमनी रोग coronary artery disease in hindi -

हृदय के रोगो में होने वाला यह एक सबसे सामान्य प्रकार का रोग है। जिसका कारण कोलेस्ट्रॉल द्वारा उन धमनियों पर एक दीवार जैसी संरचना को बना देना है। जो रक्त को हृदय तक पहुंचाने का कार्य करती हैं। जिसके कारण हृदय घात, हृदय पीड़ा, हृदय गति का रुक जाना, तथा अनियमित हृदय गति हो सकती है। पड़ने वाले घाट को ब्रेन अटैक या मस्तिष्क का काम ना करना से जाना जाता है।

यह तब होता है, जब मस्तिष्क के रक्त प्रवाह को जाने वाली धमनी का मार्ग अवरुद्ध हो जाता है, या मस्तिष्क में या उसके आस-पास की धमनी फट जाती है। जिसके परिणाम स्वरूप मस्तिष्क कार्य करना बंद कर देता है। यंहा मृत्यु तक हो जाती है।

रोकथाम - इस तरह के अधिकतर

रोग अपनी प्राथमिक अवस्था में ही ख़त्म किए जा सकते हैं। अगर, उनकी पहचान समय पर कर ली जाए या वह स्वास्थ्य कार्यक्रमों के तहत बता दिए जाएँ ग़लत ख़ान पान, व्यायाम की कमी, धूम्रपान या मादक द्रव्यों का सेवन, अत्यधिक वजन, उच्च रक्त चाप , तथा मधुमेह इत्यादि। इसके ख़तरे बन सकते हैं। जिससे की हृदय से संबंधित होने वाली 80% मृत्यु का कारण बनती है।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हृदय दिवस द्वारा फैलाई जाने वाली जागरूकता इस परिप्रेक्ष्य में सहायक सिद्ध हुई है। इनका उद्देश्य जन साधारण में हृदय सम्बन्धी रोगों के चिन्ह व उनके रोकथाम के प्रयास बताना है। इनमें से कई चरण बहुत ही सरल व सर्वग्यात होने के बावजूद भी लोगों द्वारा अपनाए नहीं जाते हैं।

ह्रदय के रोगों के प्रकार types of heart diseases in hindi -

  • हृदयाघात।
  • रुमेटिक हृदय रोग।
  • जन्मजात खराबियां।
  • हृदय की विफलता।
  • पेरिकार्डियल बहाव।

हृदय रोग के प्रमुख कारण major causes of heart disease in hindi -

  1. उच्च रक्तचाप (उच्च रक्तचाप)।
  2. उच्च रक्त शर्करा (मधुमेह)।
  3. उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल।
  4. धूम्रपान।
  5. अत्यधिक शराब का सेवन करना।
  6. परिवार में हृदय रोग का इतिहास।
  7. अत्यधिक मोटा होना या मोटापे से पीड़ित होना।
  8. उच्च वसा युक्त अस्वस्थ आहार।
  9. तनाव।
  10. व्यायाम की कमी।

यह भी पढ़े :

Weight Gain Tips : तेजी से वजन बढ़ाने के लिए फॉलो करें यह खास डाइट प्लान
Health Benefits Of Cashews : एनर्जी का पावरहाउस है काजू, जानिए सेहत के लिए फायदे
Boiled Egg Side Effect : रोज़ खाते हैं उबला हुआ अंडा, तो सेहत को हो सकता है नुकसान!
Besan Health Benefits: बेसन खाने के ये फायदे हैरान कर देंगे आपको!

सेहत के लिए लाभकारी है अदरक Ginger is beneficial for health

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए सुझाव Tips to keep heart healthy in hindi -

  • कम वसा एवं उच्च रेशा युक्त आहार जैसे कि साबुत अनाजों और फलों तथा सब्जियों का सेवन करें।
  • प्रसंस्कृत आहार जैसे कि डिब्बाबंद, जमे हुए खाद्य पदार्थों और/या तैयार आहार का सेवन करने से बचें।
  • तंबाकू व धूम्रपान का सेवन करने से बचें।
  • यदि वज़न ज़्यादा है, तो शरीर की वसा को कम करें।
  • प्रतिदिन कम से कम तीस मिनट तक व्यायाम अवश्य करें।
  • नमक का सेवन कम करें।
  • योग, ध्यान एवं अन्य मनोरंजक गतिविधियों द्वारा तनाव को कम करें।
  • अपने वज़न, ब्लड प्रेशर, ग्लूकोज और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखें।
  • अपने स्वास्थ्य की नियमित जांच कराने अवश्य जाएँ।